14 november 2015 bal diwas poems for kids competition- children day poetry for school

0
2

14 november 2015 bal diwas poems for kids competition. children day poetry for school and college competitions are here. You can read these Happy Children’s day poems or 14 november 2015 bal diwas poems in your school or college competitions. These are best Children day 2015 poems or kavita in hindi.

Bal Divas kavita hindi font for students:

Chacha Nehru ka bachchon se,
bahut purana naata.
janm diwas Chacha Nehru ka,
Baal Diwas kehalaata.

Chacha Nehru ne dekhe the,
nav Bharat ke sapne.
sapne pure kar sakte the,
unke bachche apne.

Is din hum sab bachchein milkar,
geet khushi ke gaate.
Chacha Nehru ke charno mein,
shradha suman charhaate.

shaalaaon mein bhi hote hain,
naye naye aayojan.
jinhe dekh aanandit hote,
hum bachchon ke tan man.

Baal Diwas ke is avsar par,
ek shapath yah khaao.
oonch neech ka bhed bhoola kar,
sabko gale lagaao.

***

14 November Bal diwas poems in hindi for kids:

Nehru Chacha Tumhey Salaam
Aman Shanti Ka De Paigaam
Jag Ko Jang Sey Bachaya
Hum Bachon Ko Bhi Manayaa
Janamdivas Bacchon Key Naam
Nehru Chacha Tujhey Salaam
Desk Ko Di Hein Yojnaayen
Loha Aur Ishpaat Banaaye
Bandh Baney Bijali Nikali
Nehron Sey Kheton Mein Haryaali
Pragati Ka Dia Inaam
Nehru Chacha Tumhey Salaam.
Bal Diwas ki Shubhkamnaye !!
Happy Children’s Day !!

***

१४ नवंबर बल दिवस कविताये हिंदी में:

नेहरू चाचा तुम्हे सलाम
अमन शांति का दे पैगाम
जग को जंग से बचाया
हम बच्चों को भी मनाया
जन्मदिवस बच्चों के नाम
नेहरू चाचा तुझे सलाम
देश को दी हैं योजनाएं
लोहा और ईशपात बनाये
बांध बने बिजली निकली
नहरों से खेतों में हरयाली
प्रगति का दिए इनाम
नेहरू चाचा तुम्हे सलाम।
बल दिवस की शुभकामनाये।।
हैप्पी चिल्ड्रन’स डे।।

***

Bal Diwas poems in Hindi font for school competition:

बाल-दिवस है आज साथियो, आओ खेलें खेल ।
जगह-जगह पर मची हुई खुशियों की रेलमपेल ।
बरस-गांठ चाचा नेहरू की फिर आई है आज,
उन जैसे नेता पर सारे भारत को है नाज ।

वह दिल से भोले थे इतने, जितने हम नादान,
बूढ़े होने पर भी मन से वे थे सदा जवान ।
हम उनसे सीखे मुसकाना, सारे संकट झेल ।
हम सब मिलकर क्यों न रचाए ऐमा सुख संसार
भाई-भाई जहां सभी हों, रहे छलकता प्यार ।

नही घृणा हो किसी हृदय में, नहीं द्वेष का वास,
आँखों में आँसू न कहीं हों, हो अधरों पर हास ।
झगडे नही परस्पर कोई, हो आपस में मेल ।
पडे जरूरत अगर, पहन ले हम वीरों का वेश,
प्राणों से भी बढ़कर प्यारा हमको रहे स्वदेश ।

मातृभूमि की आजादी हित हो जाएं बलिदान,
मिट्टी मे मिलकर भी माँ की रक्खें ऊंची शान ।
दुश्मन के दिल को दहला दें, डाल नाक-नकेल ।
बाल दिवस है आज साथियो, आओ खेलें खेल ।

***

Bal diwas mubarak poems for kids in Hindi font:

बाल दिवस
चाचा नेहरु का बच्चों से,
बहुत पुराना नाता।
जन्म दिवस चाचा नेहरु का,
बाल दिवस कहलाता।

चाचा नेहरु ने देखे थे,
नव भारत के सपने।
सपने पूरे कर सकते थे,
उनके बच्चे अपने।

इस दिन हम सब बच्चें मिलकर,
गीत ख़ुशी के गाते।
चाचा नेहरु के चरणों में,
श्रद्धा सुमन चढ़ाते।

शालाओं में भी होते हैं,
नये नये आयोजन।
जिन्हें देख आनंदित होते,
हम बच्चों के तन मन।

बाल दिवस के इस अवसर पर,
एक शपथ यह खाओ।
ऊँच नीच का भेद भूला कर,
सबको गले लगाओ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here